सुंदर पिचाई जीवनी | Success Story Of Sundar Pichai

नमस्कार दोस्तों, आज की पोस्ट में हम गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई जीवनी से रिलेटेड सभी बातें जानेंगे, दोस्तों आप सभी में से बहुत से लोग सुंदर पिचाई के बारे में नहीं जानते होंगे और बहुत से लोगों ने तो सुंदर पिचाई का नाम पहली बार सुना होगा,

दोस्तों अगर हम किसी बॉलीवुड अभिनेता की बात करें और उसका नाम किसी के भी सामने अगर जिक्र करते हैं तो हर कोई उन्हें जान जाता है कि हां इस नाम का एक अभिनेता है, पर यही अगर हम हमारे किसी ऐसे भारतीय नागरिक का नाम ले जिसने हमारे भारत का नाम पूरे विश्व में रोशन किया हो, तो उसके बारे में बहुत कम लोग जानते होंगे,

दोस्तों आज की पोस्ट में मैं आपके साथ एक ऐसे ही इंसान की के बारे में बताने जा रहा हूं जिनका नाम सुंदर राजन पिचाई है जिन्हें पूरे विश्व में सुंदर पिचाई के नाम से जाना जाता है,

सुंदर पिचाई का पूरा परिचय

सुंदर पिचाई जीवनी | Success Story Of Sundar Pichai

दोस्तों जैसा कि हमने आपको पहले ही बता दिया सुंदर पिचाई का पूरा नाम सुंदर राजन पिचाई है और इनका जन्म 10 जून 1972 में मदुरै के तमिलनाडु शहर में हुआ था, सुंदर पिचाई के पिता का नाम रघुनाथ पिचाई है जो कि एक इलेक्ट्रिशियन थे और इनकी मां का नाम लक्ष्मी पिचाई है,

सुंदर पिचाई की धर्मपत्नी का नाम अंजली पिचाई है और इनके दो बच्चे भी हैं जिनके नाम काव्या पिचाई और किरण पिचाई है।

आगे और पढ़े:

सुंदर पिचाई ने शिक्षा कहां से प्राप्त की थी

दोस्तों सुंदर ने अपनी स्कूल की शिक्षा जवाहर विद्यालय, अशोक नगर, चेन्नई से प्राप्त की थी और 12वीं कक्षा वनवाणी मैट्रिकुलेशन हायर सेकेंडरी स्कूल से पास की थी, इसके बाद आईआईटी कॉलेज खड़गपुर से बीटेक किया और इसके बाद वह अमेरिका चले गए और उन्होंने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी, अमेरिका से मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री प्राप्त की,

दोस्तों इसके बाद भी उनकी पढ़ाई रुकी नहीं और उन्होंने अमेरिका के पेंसिल्वेनिया विश्वविद्यालय के व्हार्टन स्कूल से MBA किया।

सुंदर पिचाई का जीवन संघर्ष

दोस्तों सुंदर के पिता रघुनाथ पिचाई एक Electric engineer थे और उन्हीं से सुंदर को टेक्नोलॉजी से जुड़ने की प्रेरणा मिली, दोस्तों जब सुंदर की उम्र 12 साल थी तब उनके पिता उनके घर एक लैंडलाइन टेलीफोन लेकर आए थे जो कि उनका पहला टेक्नोलॉजी से जुड़ा डिवाइस था,

दोस्तों सुंदर पिचाई में बचपन से ही एक बहुत ही विशेष गुण था, वह आसानी से अपनी टेलीफोन डायरेक्टरी के सभी नंबर याद कर लेते थे, फोन नंबर के साथ साथ वह किसी भी प्रकार के नंबर्स को आसानी से याद कर लेते थे,

दोस्तों सुंदर बचपन से ही पढ़ाई में काफी होशियार थे साथ ही वह क्रिकेट और फुटबॉल के भी शौकीन थे और अपने स्कूल के क्रिकेट टीम की कप्तानी भी करते थे,

दोस्तों उन्होंने अपनी मेहनत और लगन से स्कूल और कॉलेज की पढ़ाई में हर जगह टॉप किया था, दोस्तों सुंदर अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद mckinsey & company में applied materials मैं अपना योगदान दिया था,

आगे और पढ़े:

सुंदर पिचाई गूगल जर्नी

दोस्तों सुंदर पिचाई ने गूगल को साल 2004 में ज्वाइन किया था और उस समय गूगल में उन्हें प्रोडक्ट और इनोवेशन ऑफिसर का काम मिला था,

दोस्तों सुंदर ने गूगल के अपने शुरुआती दौर में एक छोटी सी टीम को लेकर गूगल सर्च टूल बार पर काम किया था, जहां काम करते समय उन्हें एक नया आइडिया आया था जो कि एक इंटरनेट ब्राउज़र बनाने का था, दोस्तों अपने आइडिया को लेकर वह उस समय के गूगल के सीईओ से जाकर अपने नए आईडीए को शेयर किया तो उन्होंने यह कह कर टाल दिया कि इस प्रोजेक्ट में काफी पैसा लगेगा इसलिए हम इसे नहीं कर सकते हैं,

दोस्तों पर सुंदर ने जिद पकड़ ली थी और वह हार नहीं मानना चाहते थे और गूगल के अन्य पार्टनर से बात करके उन्हें अपने नए आइडिया पर काम करने के लिए मना लिया, दोस्तों इसके बाद गूगल ने साल 2008 में सुंदर पिचाई की मदद से अपना खुद का इंटरनेट ब्राउज़र लांच किया और जिसका नाम क्रोम रखा गया, जिसे आप और हम आज इस्तेमाल कर रहे हैं,

दोस्तों आज के समय में गूगल क्रोम ब्राउजर दुनिया का सबसे ज्यादा इस्तेमाल किए जाने वाला ब्राउज़र बन चुका है, दोस्तों गूगल क्रोम ब्राउजर की सफलता के बाद सुंदर पिचाई की गूगल में एक खास भूमिका हो गई थी, जिसके बाद गूगल के हर प्रोजेक्ट के उन्हें सबसे शीर्ष स्थान प्राप्त होने लगे थे, और इसके बाद देखते ही देखते सुंदर गूगल के सीईओ की दौड़ में भी शामिल हो चुके थे,

दोस्तों यहां मैं आपको बता दूं सुंदर के गूगल के सीईओ बनने से पहले उनको माइक्रोसॉफ्ट और ट्विटर की तरफ से भी जॉब का ऑफर आया था पर गूगल ने उनकी मेहनत और लगन को देखते हुए उन्हें काफी सारा एडवांस पैसा बोनस के रूप में देकर गूगल में ही रोक लिया था,

दोस्तों इसके बाद साल 2010 में सुंदर पिचाई को गूगल का सीईओ बना दिया गया था, जो हमारे भारत के लिए बड़े ही गर्व की बात रही थी,

दोस्तों यहां आपकी जानकारी के लिए मैं आपको बता दूं, सुंदर पिचाई ने गूगल क्रोम ब्राउजर, क्रोम ओएस और गूगल ड्राइव जैसे प्रोग्राम के विकास में एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है,

नॉट – दोस्तों आपको हमारी पोस्ट (सुंदर पिचाई जीवनी) कैसी लगी हमें कमेंट में जरूर बताएं इस पोस्ट से रिलेटेड आपकी कोई भी सवाल हो तो आप हमें कमेंट में पूछ सकते हैं साथ ही इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ साझा जरूर करें, धन्यवाद।

आगे और पढ़े:

Previous articleBest cash back apps in india 2021
Next article2021 Me Website da increase kaise kare | What is da
I’m Jatin Kumar,Founder of Axial_work.com | Friends Axial_work website par aapke sath android mobile apps review, Computer setting, software review, youtube channel tips, crypto market updates aur website design se related sabhi ke baare me jankare de jaate hai.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here