2021 Life changing story in Hindi

नमस्कार दोस्तों, आज मैं आपके साथ एक बहुत ही अच्छी लाइफ चेंजिंग स्टोरी (Life changing story in Hindi) साझा कर रहा हूं, दोस्तों आज की हमारी यह कहानी हमारे उन सभी भाइयों के लिए है जो कि अपनी लाइफ में हार मान चुके हैं और वह यह सोचते हैं कि मेरी किस्मत ही खराब है, मैं चाहे जो भी काम कर लूं मुझे उसमें असफलता ही मिलनी है,

दोस्तों अगर आपके दिमाग में कुछ इस तरह की सोच पनप रही है तो आप हमारी इस स्टोरी को लास्ट तक जरूर पढ़े, क्योंकि इस स्टोरी को पढ़ने के बाद आपके दिमाग में इस तरह की सोच कभी भी नहीं आएगी और लाइफ में आगे बढ़ने की चाह आपके दिमाग में हरदम बनी रहेगी,

दोस्तों अक्सर हमने बहुत से लोगों से सुना है और किताबों में भी पड़ा है कि लाइफ में कभी ना कभी हर इंसान को आगे बढ़ने का और पैसा कमाने का अवसर जरूर मिलता है, जिसको अगर कोई इंसान समझ जाता है तो वह आगे सफलता की सीढ़ियों पर चढ़ता ही जाता है पर जो इंसान उस मौके को खो देता है उसे उम्र भर पछताना पड़ता है,

आज की हमारी कहानी कुछ इसी शीर्ष पर हि आधारित है जिसे आपको लास्ट तक जरूर पढ़ना चाहिए, ताकि आप अपनी लाइफ में मिले मौके को खोने से बच सकें।

लाइफ चेंजिंग स्टोरी इन हिंदी (Life changing story in Hindi)

Life changing story in Hindi

दोस्तों एक समय की बात है जब एक गांव में एक मंदिर हुआ करता था, जहां पर एक पुजारी रहता था जो कि अपने तन-मन से भगवान की सेवा करता था और सुबह शाम मंदिर में आरती भी करता था, दोस्तों उसे अपने भगवान के ऊपर इतना भरोसा था कि वह हमेशा यही सोचता था कि,

मैं भगवान की इतनी सेवा करता हूं तो अगर कभी मेरे ऊपर कोई भी मुसीबत आती है तो भगवान स्वयं ही मुझे बचाने आएंगे, दोस्तों उसका यह विश्वास अटूट था,

एक दिन गांव में काफी तेज बारिश होती है जो कि रुकने का नाम नहीं लेती है और जिसके कारण गांव में बाढ़ जैसे हालात बन जाते हैं, लोग बाढ़ से बचने के लिए गांव को छोड़कर शहरों की तरफ या फिर ऊंची ऊंची चोटियों पर पहुंच जाते हैं, ताकि वह बाढ़ से अपनी और अपने परिवार की जान बचा सकें,

दोस्तों मंदिर के पुजारी को उसके भगवान के ऊपर काफी भरोसा था कि वह इस बाढ़ में नहीं बहेगा और अगर कोई मुसीबत भी आती है तो उसके भगवान उसे स्वयं बचाने आएंगे जिसके चलते वह मंदिर के अंदर ही रुका रहता है,

गांव के कुछ लोग जब गांव से बाहर निकल रहे थे और ऊंची ऊंची चोटियों पर जा रहे थे तब उन्होंने पुजारी को देखा और पुजारी से कहते हैं कि पुजारी जी आप भी हमारे साथ चलिए वरना आप इस बाढ़ में बह जाएंगे, दोस्तों पर पुजारी उनसे कहता है कि मुझे कुछ नहीं होगा आप यहां से जा सकते हो,

पुजारी की यह बात सुनकर गांव के लोग वहां से निकल जाते हैं, दोस्तों इसके बाद बाढ़ का पानी धीरे-धीरे बढ़ने लगा था और मंदिर में भी बाढ़ का पानी पूरी तरह भर चुका था साथ ही पुजारी भी पानी में आधा डूब चुका था,

दोस्तों इसके बाद वहां पर दूसरे गांव के लोग नाव मैं बैठकर जा रहे होते हैं तो वह पुजारी को देखते हैं और पुजारी से कहते हैं कि पुजारी जी आप यहां क्या कर रहे हैं इस बाढ़ में आपको हमारे साथ चलना चाहिए क्योंकि बाढ़ का पानी काफी ज्यादा बढ़ चुका है अगर आप यहां ज्यादा देर रुके तो आप इस पानी में डूब कर मर भी सकते हैं,

दोस्तों पुजारी इस पर भी उन सभी लोगों से कहते है कि नहीं मुझे कुछ नहीं होगा आप यहां से जा सकते हो, दोस्तों नाव में बैठे लोग पुजारी से काफी विनती करते हैं और उन्हें काफी समझाते हैं पर पुजारी वहां से जाने का नाम नहीं ले रहा था जिसके चलते वह लोग पुजारी को वहीं छोड़ कर आगे बढ़ जाते हैं,

इसके बाद पानी का बहाव भी काफी ज्यादा हो गया था और बाढ़ का पानी अब पुजारी की गर्दन तक आ पहुंचा था, दोस्तों तभी वहां पर एक रेस्क्यू टीम हेलीकॉप्टर से लोगों को निकालती हुई वहां पहुंचती है और वह पुजारी को देख उनके पास हेलीकॉप्टर से एक रस्सी को लटकाते हैं और पुजारी से कहते हैं कि आप जल्दी से इस रस्सी को पकड़ कर ऊपर आ जाइए हम आपको हेलीकॉप्टर में खींच लेंगे,

दोस्तों पुजारी उन सभी को देख कर हंसता हुआ कहता है कि मुझे इसकी जरूरत नहीं है, मुझे कुछ नहीं हो सकता, इसलिए आप यहां से जा सकते हैं, दोस्तों यह सुनकर रेस्क्यू टीम भी वहां से चली जाती है,

आगे और पढ़े:

Life changing story in Hindi

इसके कुछ टाइम बाद ही पुजारी उस बाढ़ के पानी में बह जाता है और पानी में डूबने से उसकी मौत हो जाती है, दोस्तों पुजारी के मरने के बाद उसकी आत्मा उसके शरीर का साथ छोड़कर भगवान के घर चली जाती है जहां पर वह पुजारी भगवान के सामने जाकर उनसे पूछता है कि,

हे प्रभु मैंने अपने पूरे जीवन में सिर्फ आपकी ही आराधना की है आपकी तन मन से सेवा की है मेरी सेवा में ऐसी कौन सी कमी रह गई थी जिसके कारण आपने मुझे बाढ़ के पानी से बचाया भी नहीं और अपने पास यहां बुला लिया,

दोस्तों यह सुनकर भगवान उस पुजारी से कहते हैं, हे नादान बालक मैंने तुझे बचाने के तीन अवसर प्रदान किए थे जिसमें एक मैं गांव के आदमियों के साथ मिलकर तुझे बचाने आया था, दूसरी बार मैं तुझे नाव में बैठकर बचाने आया था और तीसरी बार मैं हेलीकॉप्टर में बैठकर तुझे बचाने आया था, पर तूने मुझे पहचाना ही नहीं और मेरे दिए सभी अवसर को ठुकरा दिया, जिसके कारण तेरी मृत्यु हो गई,

दोस्तों इस तरह भगवान हर इंसान को आगे बढ़ने का एक अवसर जरूर प्रदान करता है, जिसको अगर आप समझ जाते हैं तो आपको सफलता की सीढ़ियों तक पहुंचने से कोई भी नहीं रोक सकता, पर अगर आप उसे हल्के में ले जाते हैं तो आपको आगे जाकर पछताना पड़ता है।

इस कहानी से हमें क्या शिक्षा मिलती है

दोस्तों इस कहानी से हमें यही शिक्षा मिलती है कि हमें कभी भी जीवन में मिले किसी भी मौके को नहीं छोड़ना चाहिए और किसी भी दिन या फिर किसी भी काम को छोटा या बड़ा नहीं समझना चाहिए और उसे अपनी मेहनत और लगन के साथ करना चाहिए, अगर आप ऐसा करते हैं तो आगे जाकर आपको सफलता मिलनी ही मिलनी है,

नोट- दोस्तों आपको हमारी यह कहानी (Life changing story in Hindi) कैसी लगी, हमें कमेंट में जरूर बताएं, इस कहानी से रिलेटेड आपके कोई भी सवाल हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं साथ ही इस कहानी को अपने दोस्तों के साथ साझा जरूर करें, धन्यवाद।

आगे और पढ़े:

Previous articleHow to approve google adsense | adsense approval trick 2021
Next articleWhat is web hosting in hindi | Web hosting meaning in hindi
I’m Jatin Kumar,Founder of Axial_work.com | Friends Axial_work website par aapke sath android mobile apps review, Computer setting, software review, youtube channel tips, crypto market updates aur website design se related sabhi ke baare me jankare de jaate hai.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here