Anar ko english mein kya kahate hain | अनार का अंग्रेजी मीनिंग क्या होता है?

नमस्कार दोस्तों, आज की पोस्ट में हम जानेंगे Anar ko english mein kya kahate hain, अनार का अंग्रेजी मीनिंग क्या होता है अनार किस भाषा का शब्द है, अनार को खाने के क्या फायदे हैं,

अनार खाने में सब को अच्छा लगता है। Anar हर मौसम में खाया जा सकता है। अनार में हमको fibre, vitamin K, Vitamin C, vitamin B, iron, potassium, zinc और Omega 6 fatty acid मिलता है।

Anar उपोषण जलवायु मे मुख्यता उगाया जाता है। लगभग हर मिट्टी में अनार को उगाया जा सकता है। लेकिन रेतीली दोमट मिट्टी anar उत्पादन के लिए काफी अच्छी होती है।

इस पोस्ट में आपको अनार से संबंधित हर जानकारी दी गई है अगर आप अनार के बारे में जानना चाहते हैं तो हमारी इस पोस्ट को पूरा अवश्य पढ़ें।

Anar ko english mein kya kahate hain, अनार का अंग्रेजी मीनिंग

Contents

Anar ko english mein kya kahate hain

दोस्तों आप में से बहुत से लोगों ने हमसे यह पूछा है कि – अनार को इंग्लिश में क्या कहते हैं बताइए। और यहां पर हमने आपके सवाल को ध्यान में रखते हुए आपको बिल्कुल सही जवाब दिए हैं,

अनार को इंग्लिश में Pomegranate (पोमेग्रेनेट) कहते हैं।

Anar in english Pomegranate (पोमेग्रेनेट)
Pomegranate in hindiअनार (Anar)

Best motivational movies for students in hindi: अगर आप स्टूडेंट हैं तो आपको अपनी लाइफ में इन मोटिवेशनल मूवीज को एक बार अवश्य देखना चाहिए, मोटिवेशनल मूवीस की जानकारी प्राप्त करने के लिए यहां दिए लिंक पर क्लिक करें।

अनार को किन नामों से जाना जाता है

वैसे तो अनार हिंदी भाषा का शब्द है पर इसे अलग-अलग भाषाओं में अलग अलग नाम से जाना जाता है जिसकी यहां पर हमने आपको पूरी जानकारी दी है।

अनार को मराठी में क्या कहते हैंडाळिंब
अनार को उर्दू में क्या कहते हैंانار
अनार को हिंदी में क्या कहते हैंअनार
अनार को बांग्ला में क्या कहते हैंबेदाना
अनार को संस्कृत में क्या कहते हैंदाड़िम
अनार को पंजाबी में क्या कहते हैंਅਨਾਰ
अनार को अरबिक में क्या कहते हैंrumaan

Bhoot wala film list: 1995 से लेकर 2022 के बीच में रिलीज होने वाली भूत वाली फिल्मों की जानकारी प्राप्त करने के लिए यहां दिए लिंक पर क्लिक करें।

अनार खाने के क्या फायदे हैं

No 1: अनार के अंदर बहुत से ऐसे पोषक तत्व मौजूद रहते हैं जो हमारे शरीर को तंदुरुस्त और सेहतमंद बनाते हैं।

Follow US

axialwork.com से जुड़ने के लिए आप हमें google news पर फॉलो कर सकते हैं, ताकि आपको हमारी वेबसाइट की ज्ञानवर्धक जानकारियां समय-समय पर मिलती रहे।

अभी फॉलो करें

 

No 2: अनार खाने से शरीर की कमजोरी दूर होती है।

No 3: अनार के सेवन से शरीर में खून की पूर्ति होती है।

No 4: अनार के पेड़ की पत्तियों का भी काफी ज्यादा महत्व है इनका इस्तेमाल कई तरह की औषधियों में लिया जाता है।

No 5: अमेरिकी शोधकर्ताओं के अनुसार हाल ही की रिसर्च में यह पता चला है कि अगर आप हर दिन एक अनार खाते हैं तो उससे आपको कभी भी दिल की बीमारी नहीं होगी।

No 6: अनार के अंदर कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन डी, विटामिन ए और पोटेशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

No 7: अनार के सेवन से पेट में होने वाली समस्याएं भी दूर होती है।

No 8: अनार हमारे शरीर के कोलेस्ट्रोल को कम करता है।

History Of anar in hindi

अनार (Anar foods) बहुत ही स्वादिष्ट फल है। जिसकी शुरुआत Mediterranean sea के आसपास के इलाके से हुई थी। अनार की खेती Northern hemisphere मे October से February तक तथा Southern hemisphere मे March से may तक की जाती है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि Anar का उपयोग खाने में, शराब बनाने में, जूस इत्यादि के बनाने में प्रयोग किया जाता है।

No internet dinosaur game play: बिना इंटरनेट का इस्तेमाल किए गूगल पर डायनासोर वाला गेम खेलें।

अनार की उन्नत किस्म

Anar की बहुत सारी किस्मे होती हैं। आइए अनार की कुछ प्रचलित किस्मों के बारे में जानते हैं।

No 1: Jyoti

Anar की यह किस्म मुलायम होती है। इस किस्म के अनार स्वाद में मीठे होते हैं। साथ ही इनका आकार medium से लेकर बड़े तक हो सकता है। ऐसे अनार आपको हल्के पीले के साथ लाल लाल रंग के दिखाई देते हैं।

No 2: Mridula 

इस किस्म के अनार medium आकार के होते हैं। जिनका रंग dark red होता है। ऐसे अनार मुलायम होने के साथ-साथ  रसदार और मीठे भी होते हैं।  

No 3: Bhagava 

भगवा किस्म के अनार काफी बड़े होते हैं। भगवा किस्म इनके भगवा रंग के कारण पड़ा है। इनके बीज काफी मुलायम होते हैं। Rajasthan और Maharashtra मे भगवा किस्म के anar उगाए जाते हैं।

No 4: Araktta 

इस किस्म के अनार अच्छी पैदावार देने के साथ-साथ, बड़े आकार के होते हैं। स्वाद में मीठे और मुलायम,  आराकत्ता किस्म के अनारो की होती है।

No 5: Kandhari

कंधारी किस्म के अनार अधिक रसीले होते हैं। इनके बीज काफी सख्त होते हैं। आकार में कंधारी अनार सबके बाप होते हैं।

Mental games: दुनिया का सबसे अच्छा पागल वाला गेम कौन सा है पागल वाला गेम लिस्ट की पूरी जानकारी यहां दिए लिंक पर क्लिक करके प्राप्त करें।

अनार की खेती कहाँ होती है?

Anar की खेती मुख्यता गर्म प्रदेशों में होती है। भारत में अनार की खेती Uttar Pradesh, Maharashtra, Rajasthan, Haryana, Andhra Pradesh, Karnataka, Tamil Nadu तथा Gujarat राज्य में होती है।

अनार को पौधे से पेड़ तैयार होने में 3 से 4 साल लगते हैं। फिर यह फल देना शुरू कर देता है। लगभग 25 सालों तक फल देता रहता है।

अनार को संस्कृत में क्या कहते हैं?

विभिन्न भाषाओं में सभी चीजों के नाम अलग-अलग हो सकते हैं। ऐसे ही अनार को संस्कृत भाषा में दाढ़ी मम कहते हैं।   

अनार का रंग लाल क्यों होता है?

अनार का लाल रंग इसमें मौजूद विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों की वजह से होता है। अनार में fibre, Vitamin C, vitamin B, vitamin K, Omega 6 fatty acid, zinc, potassium, iron इत्यादि तत्व मौजूद होते हैं। इन सब की वजह से Anar का रंग लाल होता है। 

Duniya ka sabse bada game: अगर आप दुनिया का सबसे बड़ा गेम कौन सा है इसकी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो यहां दिए लिंक पर क्लिक करें।

अनार का पौधा कितने दिन में फल देता है?

अनार के पौधे को बड़ा होने में वक्त लगता है। अनार का एक पौधा बड़ा होने में 3 से 4 साल ले लेता है। 4 साल से लेकर, लगभग 25 साल तक Anar फल देता रहता है। अगर आप डायरेक्ट अनार की पौध लगा देते हैं, तो आपको  ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। 120 से 130 दिन के  अंदर ही आपको अनार खाने को मिल जाएंगे।

हालांकि अनार को शुरुआत में लगाने में थोड़ी investment की जरूरत पड़ती है। लेकिन बाद में यह मुनाफे का सौदा होता है।

अनार का पौधा कितने साल में फल देता है?

जैसा कि आपको बताया गया है, कि anar के पौधे को पेड़ बनने में 3 से 4 साल का समय लगता है। इसके बाद ही  आप अनार को प्राप्त कर सकते हैं। पेड़ पर अनार आने के बाद, आप लगातार 25 सालों तक एक पेड़ से बहुत सारे  अनार प्राप्त कर सकते हैं।

अनार का सीजन कब आता है?

अनार उपोषण जलवायु का पौधा है। यानी इसके उत्पादन के लिए गर्म और शुष्क जलवायु की आवश्यकता होती है। भारत में अनार की खेती, वर्ष में तीन बार की जाती है। 

  • जून से जुलाई 
  •  सितंबर से अक्टूबर
  •  जनवरी से फरवरी।

लेकिन मुख्य रूप से Anar की खेती या तो अगस्त से सितंबर, या फरवरी से मार्च के बीच की जाती है।

अनार के पेड़ के फूल क्यों झड़ जाते हैं?

अनार के पेड़ से फूल कई कारणों से झड़ सकते हैं।

  1.  अगर आपके अनार के पौधे की आयु कम है, तो भी ऐसा हो सकता है। क्योंकि कम उम्र का पौधा Anar रखने की capacity नहीं रख सकता है।
  2.  अगर आपने अपने अनार के पौधे गमलों मे लगा रखे हैं, तो पोषक तत्व की कमी के कारण भी फूल गिर जाते हैं।

अगर आपके किसी भी वजह से Anar के पेड़ से फूल गिर रहे हैं, तो आप phalonix दवा का स्प्रे कर सकते हैं। इससे अनार के फूल गिरने बंद हो जाएंगे।

Best camera apps: अपनी फोटो को शानदार बनाने के लिए यहां दिए लिंक पर क्लिक करके बेस्ट कैमरा एप्स को अपने मोबाइल में डाउनलोड करें।

FAQ’s

अनार में कौन सा विटामिन होता है?

अनार में बहुत सारे विटामिन पाए जाते हैं। लेकिन मुख्य रूप से अनार में vitamin K, Vitamin C, vitamin B, vitamin E पाया जाता है।

अनार में कौन सा एसिड पाया जाता है?

अनार में प्रमुख रूप से ELLAIGIC ACID पाया जाता है। इसके अलावा  ओमेगा 6 फैटी एसिड भी Anar मे पाया जाता है।

अनार का पेड़ कब लगाना चाहिए?

अनार का पेड़  September से October या January से February के बीच लगाया जा सकता है। यही सही समय होता है, जब अनार के पौधे की ग्रोथ होती है।अनार का पौधा लगाते वक्त पांच -पांच मीटर का gap रखना चाहिए।

अनार के पौधे की देखभाल कैसे करें?

अनार के पौधे की सही समय पर देखभाल बहुत जरूरी है। वरना आपकी उगाई गई फसल बेकार हो सकती है। अनार को अच्छे temperature की आवश्यकता होती है। यानी Anar का पौधा 40 डिग्री सेंटीग्रेड का तापमान अपनी वृद्धि के लिए उपयोग करता है।

अनार के पौधे की weekly एक बार जरूर पेड़ की गहराई तक पानी दे। इसके अलावा समय-समय पर उर्वरक और खाद भी देते रहें। ध्यान दे, अनार के पौधे मे बेकार हुए भागों को निकाल दे, वरना पूरा पेड़ खराब हो सकता है।

क्या अनार ठंडा होता है?

जी हां, अनार ठंडा होता है। इसकी तासीर काफी ठंडी होती है। यह आपके शरीर में जाकर blood circulation को धीमा कर देता है। जिससे तुरंत आपका बीपी गिर सकता है।

रोज अनार खाने से क्या होता है?

रोजाना अनार खाने से आप स्वस्थ रह सकते हैं। आपके शरीर में blood की मात्रा बढ़ जाती है। अमेरिकी शोध के मुताबिक  जो व्यक्ति रोजाना अनार खाते हैं, उनको heart संबंधी दिक्कतें नहीं होती हैं। 

सुबह खाली पेट अनार खाने से क्या फायदा?

सुबह-सुबह खाली पेट अनार खाने से आपको बहुत अच्छा महसूस होता है। डॉक्टर भी यही सलाह देते हैं  कि सुबह ही आपको Anar खाना चाहिए। रात में अनार नहीं खाना चाहिए। क्योंकि इस समय आपके शरीर का metabolism धीमा हो जाता है।

क्या घर में अनार का पौधा लगा सकते हैं?

जी हां, आप अपने घर में भी अनार का पौधा लगा सकते हैं। आप चाहे तो गमलों में भी  अनार का पेड़ लगा सकते हैं। वास्तु शास्त्र में भी Anar के पौधे को सुख समृद्धि का प्रतीक बताया गया है। इसलिए आपको घर में अनार का पौधा जरूर लगाना चाहिए।

होम पेज पर जाएंयहां क्लिक करें

आगे और पढ़ें:

Conclusion:

हमें उम्मीद है आपको हमारी पोस्ट “Anar ko english mein kya kahate hain” पसंद आई होगी, आज की पोस्ट में हमने यहां आपको अनार का अंग्रेजी मीनिंग क्या होता है अनार किस भाषा का शब्द है, अनार को खाने के क्या फायदे हैं, अनार से जुड़ी हर जानकारी हमने यहां आपके साथ शेयर की है,

हमारी इस पोस्ट से संबंधित आपके मन में जो भी सवाल हो आप उन्हें कमेंट के द्वारा हमसे पूछ सकते हैं,

इसी तरह से आगे भी ज्ञानवर्धक जानकारी प्राप्त करते रहने के लिए हमारी वेबसाइट को subscribe करें, धन्यवाद।

5/5 - (2 votes)

Leave a Comment

7 − 1 =