ATM full form in hindi | Atm का इतिहास

नमस्कार दोस्तों, आज की पोस्ट में हम जानेंगे “atm क्या होता है, atm full form क्या है, एटीएम किस तरह से काम करता है और ATM को कब बनाया गया था, किसने बनाया था, इसका निर्माण कब हुआ था”,

दोस्तों अगर आपके मन में एटीएम से रिलेटेड कोई भी सवाल है, या आप एटीएम के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप हमारी इस पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढ़ें, इस पोस्ट में आपको atm से जुड़ी हुई हर जानकारी दी गई है।

ATM full form

दोस्तों सबसे पहले यहां हम एटीएम की फुल फॉर्म के बारे में बात कर लेते हैं, की एटीएम फुल फॉर्म क्या है

ATM full form in hindi

Google translate के अनुसार atm ka full form

दोस्तों अभी अगर हम बात करें कि गूगल ट्रांसलेशन पर अगर हम एटीएम फुल फॉर्म सर्च करते हैं और atm ka pura naam जानने की कोशिश करते हैं, तो हमारे सामने कुछ इस तरह का रिजल्ट आ जाता है,

atm ka full form

यानी कि दोस्तों गूगल ट्रांसलेशन के हिसाब से “atm ki full form” हमें कुछ इस तरह से देखने को मिलती है,

ATM full form in english – automated teller machine
ATM ka full form hindi me – स्वचालित टेलर मशीन

Read Also: Sushant singh rajput biography

Shabdkosh के अनुसार full form of atm

दोस्तों किसी भी अंग्रेजी या हिंदी शब्द का हिंदी और अंग्रेजी अर्थ जानने के लिए अक्सर हम शब्दकोश का इस्तेमाल करते हैं और इसी को ध्यान में रखते हुए हमने शब्दकोश का इस्तेमाल करते हुए “atm ki full form” जानने की कोशिश की, तो रिजल्ट हमें कुछ इस तरह देखने को मिला,

full form of atm

दोस्तों ऊपर फोटो में आप देख सकते हो हमें “full form of atm” का कोई उत्तर नहीं मिला, क्योंकि इसमें एटीएम फुल फॉर्म का कोई भी उत्तर मौजूद नहीं था, इसके बाद हमने सोचा कि इसमें हम सिर्फ एटीएम सर्च करके देखते हैं, तो शायद हमें atm का फुल फॉर्म पता चल सके, तो उसके बाद हमारे सामने रिजल्ट कुछ इस तरह का आया,

एटीएम फुल फॉर्म

दोस्तों इस बार भी हमारे सामने कोई भी रिजल्ट नहीं आया, अब यह तो हम नहीं बता सकते कि शब्दकोश के अंदर एटीएम की फुल फॉर्म क्यों मौजूद नहीं है।

Read Also: Online jobs for students

हिंदी इंग्लिश डिक्शनरी के अनुसार atm ka full form

हिंदी इंग्लिश डिक्शनरी में अगर हम “atm ka full form” सर्च करते हैं, तो हमारे सामने कुछ इस तरह का रिजल्ट आ जाता है,

atm ka full form hindi me

गूगल ट्रांसलेट की तरह ही हिंदी इंग्लिश डिक्शनरी में हमें “atm ka full form hindi me” कुछ इस तरह से देखने को मिलती है,

ATM full form – स्वचालित टेलर मशीन

Read Also: Telegram se paise kaise kamaye

YouTube के अनुसार full form of atm in hindi

दोस्तों अगर हम यूट्यूब पर “full form of atm in hindi” जानने के लिए अगर कोई वीडियो सर्च करते हैं, तो हमें बहुत सारे वीडियो यूट्यूब पर देखने को मिल जाते हैं, जिनमें एटीएम की फुल फॉर्म की जानकारी दी गई होती है,

ATM full form की जानकारी यूट्यूब से प्राप्त करने के लिए हमने जब यूट्यूब पर कोई वीडियो सर्च किया, तो उसमें हमें एक काफी अच्छा वीडियो मिला, जिसमें काफी अच्छे से “full form of atm in hindi” के बारे में बताया गया है,

Full form of atm in hindi Guide by Amazing Videos

दोस्तों आपको इस वीडियो को एक बार अवश्य देखना चाहिए, इसमें एटीएम फुल फॉर्म के साथ साथ atm के आविष्कारक के बारे में बताया गया है और एटीएम से जुड़ी हुई बहुत सी अच्छी जानकारी दी गई है।

Read Also: Popads review in hindi

Quora के अनुसार एटीएम फुल फॉर्म

दोस्तों जैसा कि हम सभी जानते हैं Quora एक ऐसा प्लेटफार्म है जहां पर आपको सभी सवालों के जवाब मिल जाते हैं और अगर हम कोहरा पर सर्च करते हैं कि एटीएम फुल फॉर्म क्या है तो पूरा पर भी हमें इस सवाल के काफी अच्छे और बहुत सारे जवाब देखने को मिलते हैं,

Quora पर हमें जो जवाब देखने को मिलते हैं, वह गूगल translate और हिंदी इंग्लिश डिक्शनरी में बताए गए जवाबो से एकदम मैच खाते हैं, जो कि आप नीचे स्क्रीनशॉट के अंदर देख सकते हैं,

atm ka pura name

Vokal के अनुसार atm ka pura name

दोस्तों vokal के अनुसार भी हमें “atm ka pura name – ऑटोमेटिक टेलर मशीन” ही देखने को मिला है,

Read Also: Mobile app se paise kaise kamaye in hindi

ATM ka full form kya hai (मेरी राय)

दोस्तों यहां हमने आपके साथ लगभग सभी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म की राय साझा की है, जहां से हमें “atm ka full form kya hai” की जानकारी मिल सकती थी और देखा जाए तो लगभग हमें सभी जगह पर सेम ही जानकारी देखने को मिली है,

पर दोस्तों अभी अगर देखा जाए कि atm ka pura naam जो निकल कर हमारे सामने आ रही है, वह एटीएम ट्रेलर मशीन है, पर यदि इसका हिंदी में पूरा अर्थ जानने की अगर हम कोशिश करते हैं, तो इंटरनेट पर हमें इसका पूरा अर्थ किसी भी प्लेटफार्म पर देखने को नहीं मिला है,

दोस्तों यदि अगर हम किसी ऐसे व्यक्ति से बात करें, जिसे एटीएम के बारे में 0% भी जानकारी ना हो और उसे हम यह पूछे कि एटीएम या फिर ऑटोमेटिक टेलर मशीन क्या होती है, तो वह व्यक्ति कुछ भी समझ नहीं पायेगा और हमारे सवाल का जवाब भी नहीं दे पाएगा,

दोस्तों आज भी हमारे भारत देश में बहुत से ऐसे गांव हैं, जहां के लोग एटीएम और एटीएम की फुल फॉर्म को नहीं जानते हैं और कुछ ऐसे लोग भी हैं, जो एटीएम को “पैसे निकालने वाली मशीन” के नाम से जानते हैं,

यहां अगर हम पब्लिक की राय जाने की एटीएम की फुल फॉर्म क्या है और एटीएम को आप किन किन नामों से जानते हैं तो उनके जवाब कुछ इस तरह से हमें देखने को मिलते हैं,

  • पैसा निकालने वाली मशीन
  • पैसे देने वाली मशीन
  • पैसे उगलने वाली मशीन
  • पैसे फेंकने वाली मशीन

दोस्तों अभी अगर हम सही और पूर्ण रूप से एटीएम का हिंदी में अर्थ जानने की कोशिश करें, तो वह कुछ इस तरह से हमें देखने को मिलता है।

Read Also: Facebook se earning kaise kare in hindi

Atm का हिंदी में पूरा अर्थ?

  • वह यंत्र जिससे मुद्रा की निकासी की जाती है,
  • एक ऐसा यंत्र जिससे पैसा निकाल सकते हैं,
  • पैसों का निकास करने वाली मशीन,
  • पैसों का निकास करने वाला यंत्र,

दोस्तों एटीएम की जानकारी नहीं रखने वाले को अगर हम यहां बताए गए शब्दों का इस्तेमाल करके उसे एटीएम के बारे में पूछते हैं या उसे एटीएम की जानकारी देते हैं, तो उसे तुरंत ही समझ में आ जाएगा की एटीएम अर्थात ऑटोमेटिक टेलर मशीन क्या होती है।

दोस्तों मुझे उम्मीद है आपको एटीएम की फुल फॉर्म की पूरी जानकारी प्राप्त हो गई होगी, यदि अब भी अगर आपका एटीएम की फुल फॉर्म से रिलेटेड कोई भी सवाल हो तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं, या एटीएम को लेकर आपकी कोई राय हो तो वह भी हमें कमेंट में बता सकते हैं।

Read Also: Surdas biography in Hindi

Atm क्या है?

Atm एक ऐसी इलेक्ट्रॉनिक मशीन है, जिसका इस्तेमाल करके हम कुछ ही सेकंड में पैसे निकाल सकते हैं और पैसे निकालने के साथ-साथ हम अपने बैंक खाते की शेष राशि पता कर सकते हैं, किसी दूसरे खाते में पैसा भेज सकते हैं, अपने बैंक खाते की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं,

मुझे उम्मीद है आपको समझ में आ गया होगा Atm क्या है

Read Also: Amrish Puri Biography in Hindi

ATM का इस्तेमाल कैसे होता है?

दोस्तों एटीएम का इस्तेमाल करने के लिए हमारा किसी भी बैंक के अंदर खाता होना आवश्यक होता है और बैंक में खाता होने के बाद हमें बैंक में जाकर एटीएम कार्ड बनवाना होता है, जोकि एटीएम से पैसे निकालने में हमारी मदद करता है,

दोस्तों बैंक में जाकर हम जो एटीएम कार्ड बनवाते हैं, वह प्लास्टिक का होता है और उस पर एक “Magnetic strip” लगी हुई होती है, जिसके अंदर हमारे बैंक खाते की पूरी डिटेल होती है, जिसे कोई भी नहीं पढ़ सकता है, हर एटीएम कार्ड का 4 डिजिट का पिन होता है,

एटीएम से पैसे निकालने के लिए हमें अपने एटीएम कार्ड के साथ साथ अपने एटीएम पिन को भी याद रखना होता है, क्योंकि बिना एटीएम पिन और बिना एटीएम कार्ड के हम एटीएम मशीन से पैसा नहीं निकाल सकते हैं,

एटीएम मशीन से पैसे निकालने के लिए हमें एटीएम मशीन के अंदर अपना एटीएम कार्ड डालना होता है और उसके बाद हमें एटीएम मशीन के अंदर से जितने पैसे निकालने हो उतना अमाउंट भरकर हमें अपने कार्ड का 4 डिजिट का पिन डालना पड़ता है,

जैसे ही हम अपने एटीएम कार्ड का पिन डालते हैं, तो उसके बाद मशीन से हमें ऑटोमेटेकली पैसे प्राप्त हो जाते हैं और इस तरह से हम एटीएम मशीन का इस्तेमाल करके अपने बैंक खाते से पैसे निकाल सकते हैं।

Read Also: Thakur anoop singh biography

ATM के लाभ

No 1: एटीएम के इस्तेमाल के बाद अब लोगों को बैंक खाते से पैसा निकालने के लिए लाइन में नहीं लगना पड़ता है,

No 2: एटीएम के जरिए कुछ ही सेकंड में पैसा निकाल सकते हैं,

No 3: एटीएम कार्ड की मदद से आप किसी भी बैंक की एटीएम मशीन से पैसे निकाल सकते हैं,

No 4: अगर आप एटीएम का इस्तेमाल जरूरत पड़ने पर ही करते हैं, तो आपको एटीएम से पैसे निकालने का कोई भी चार्ज नहीं देना पड़ता है,

No 5: एटीएम की मदद से आप 24 घंटे में कभी भी पैसा निकाल सकते हैं,

No 6: एटीएम कार्ड की मदद से आप ऑनलाइन शॉपिंग भी कर सकते हैं।

Read Also: Dhirubhai ambani biography in hindi

ATM के नुकसान

No 1: अगर हमारा एटीएम कभी खो जाता है और वह किसी और के गलत हाथों में लग जाता है, तो वह व्यक्ति हमारे एटीएम की मदद से ऑनलाइन शॉपिंग कर सकता है और साथ ही पैसा भी निकाल सकता है,

No 2: एटीएम कार्ड खाफ़ी छोटा होता है और उसके छोटे होने के कारण वह हमसे कहीं भी गुम हो सकता है और अगर हमारा कार्ड गुम हो जाता है, तो ऐसे में हमारे बैंक का पैसा खतरे में रहता है जिसे कोई भी निकाल सकता है,

No 3: एटीएम को इस्तेमाल करने की कुछ लिमिटेशंस होती है, जैसे कि कई बैंकों के अंदर एटीएम से रोज पैसा निकालने की लास्ट लिमिट 25 से ₹30000 ही होती है, इससे ज्यादा का अमाउंट आप 1 दिन में एटीएम से नहीं निकाल सकते हैं,

No 4: ATM card को आप महीने में 10 से 15 बार ही इस्तेमाल कर सकते हैं, इससे ज्यादा इस्तेमाल करने पर आपको अतिरिक्त चार्ज देना होता है,

No 5: एटीएम कार्ड को हमेशा दूसरों से बचा कर रखना पड़ता है,

Read Also: Kabir das biography in hindi

Atm कितने प्रकार के होते है

दोस्तों एटीएम कई प्रकार का हमें देखने को मिलता है और समय-समय पर जरूरत के हिसाब से एटीएम में काफी ज्यादा बदलाव किए जाते हैं, जिसे एक नए नाम से मार्केट में लाया जाता है,

इसलिए दोस्तों एटीएम कितने प्रकार का होता है, यह बताना काफी मुश्किल है बाकी हमारी नजर में अभी तक जितनी भी एटीएम मार्केट में मौजूद है, उन सभी के बारे में हमने यहां आपको डिटेल में जानकारी दी है तो आइए उन सभी एटीएम के बारे में जानते हैं।

Offline ATM

दोस्तों offline ATM बैंक शाखा के डेटाबेस से जुड़ा हुआ नहीं रहता है, offline ATM को आप सिर्फ उसी बैंक के एटीएम में इस्तेमाल कर पाएंगे, जिस बैंक के अंदर आपका खाता रहता है,

Online atm

Online ATM बैंक शाखा के डेटाबेस से ऑनलाइन जुड़ा रहता है, जिस का सबसे बड़ा बेनिफिट हमें यह मिलता है कि इस तरह के atm को हम कहीं भी किसी भी शहर में जाकर वहां के एटीएम को इस्तेमाल कर सकते हैं,

White Label ATM

दोस्तों White Label ATM NBFC के द्वारा लगाए जाते हैं, और NBFC एक फाइनेंसियल इंस्टिट्यूट है, जिसका पूरा नाम “Non-Banking Financial Companies” है और यह बैंक की तरह काम नहीं करते हैं, इस तरह की कंपनी से आप लोन ले सकते हैं, पर इनमें deposit नहीं कर सकते हैं,

दोस्तों NBFC कंपनी “रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया” के अप्रूवल के बिना कहीं भी atm नहीं लगा सकती है, इन्हें एटीएम लगाने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से अप्रूवल लेना पड़ता है,

Brown Label ATM

दोस्तों Brown Label ATM को कोई भी बैंक नहीं लगाता है, इस तरह के atm किसी (3rd) थर्ड पार्टी द्वारा लगाए जाते हैं, पर दोस्तों इस तरह के एटीएम की कनेक्टिविटी और इस तरह के एटीएम में डाले जाने वाले पैसे का पूरा हिसाब किताब बैंक के पास रहता है,

बैंक ही इस तरह के एटीएम में पैसा डालता है, साथ ही इसकी जो कनेक्टिविटी यानी कि इसका सॉफ्टवेयर भी बैंक का ही होता है, साथ ही इस तरह के एटीएम पर बैंक अपने का नाम का poster लगाकर रखता है ना कि थर्ड पार्टी जिसका यह एटीएम रहता है, वह कोई भी नाम नहीं लगाती है,

दोस्तों आज के समय में हमें इस तरह के एटीएम ही ज्यादा लगे हुए देखने को मिलते हैं, क्योंकि बैंकों को इस तरह के एटीएम से काफी ज्यादा बेनिफिट होता है।

Read Also: Mahendra singh dhoni biography in hindi

Green Label ATM

दोस्तों इस तरह के एटीएम का इस्तेमाल काफी कम किया जाता है, क्योंकि इस तरह के एटीएम agriculture से रिलेटेड होते हैं, यानी कि यह एटीएम सिर्फ हमारे किसान भाइयों के लिए होते हैं,

Orange Label ATM

Orange Label ATM शेयर बाजार की ट्रांजैक्शन से रिलेटेड होते हैं।

Yellow Label ATM

Yellow Label ATM e-commerce के लिए होते हैं।

Pink Label ATM

Pink Label ATM woman बैंकिंग के लिए प्रदान किए जाते हैं, यानी कि इस तरह के एटीएम सिर्फ महिलाओं के लिए होते हैं।

Read Also: Khushi punjaban biography

ATM का इतिहास

आप में से बहुत ही कम लोगों को यह पता होगा कि एटीएम मशीन का जिसने आविष्कार किया था, उसका जन्म हमारे भारत में ही हुआ था, जो कि हमारे लिए काफी ज्यादा गर्व की बात है,

Atm मशीन को “John Shepherd-Barron” ने बनाया है, John का जन्म भारत में 23 June 1950 को हुआ था, दोस्तों जॉन का कहना है कि एक समय वह बाथरूम में नहा रहे थे उस वक्त नहाते हुए उनके मन में यह ख्याल आया कि अगर एक मशीन चॉकलेट निकाल सकती है, तो फिर कोई मशीन पैसा क्यों नहीं निकाल सकती,

दोस्तों इसके बाद जॉन ने एटीएम मशीन के ऊपर काम करना शुरू कर दिया था और देखते ही देखते कुछ ही समय में उन्होंने एक एटीएम मशीन बना ली थी,

पूरी दुनिया में सबसे पहले एटीएम मशीन 27 जून 1967 को लंदन के इनफिल्ड कस्बे मैं लगाई गई थी, यही अगर हम हमारी भारत की बात करें तो भारत में सबसे पहले एटीएम मशीन को 1987 के अंदर मुंबई में स्थित HSBC बैंक में लगाया गया था,

Read Also: Sasural simar ka serial ki kahani

Facts about atm

No 1: दोस्तों अगर आज के समय की बात की जाए तो हमारे भारत के अंदर 300000 से भी ज्यादा एटीएम इंस्टॉल किए गए हैं, यानी कि लगाए गए हैं,

No 2: महाराष्ट्र के अंदर एटीएम की संख्या सबसे ज्यादा देखने को मिलती है,

No 3: हमारे भारत देश में सबसे ज्यादा sbi बैंक की atm मशीनें लगाई गई है, जो की गिनती में 60000 से भी ऊपर जाती है,

No 4: भारत में सबसे पहला atm 1987 के अंदर मुंबई में स्टील HSBC बैंक में लगाया गया था,

No 5: पूरे विश्व में लगभग 3500000 से भी ज्यादा एटीएम मौजूद हैं,

Read Also: Logo design business se ghar baithe paise kamaye

ATM से रिलेटेड पूछे गए सवाल

दोस्तों एटीएम से रिलेटेड गूगल पर सर्च करने के बाद यह सभी सवाल निकाले हैं और इन सभी सवालों का जवाब भी हमने आपको इस पोस्ट के अंदर दे दिया है,

  • एटीएम क्या है,
  • एटीएम किसे कहते हैं,
  • ATM का आविष्कार कब हुआ था,
  • एटीएम को सबसे पहले किस देश में लगाया गया था,
  • सबसे पहले भारत में एटीएम कब लगा था और कहां लगा था,
  • एटीएम का हिंदी अर्थ क्या है,
  • एटीएम के प्रकार,
  • atm ko hindi me kya kahte hai,
  • full form of atm in hindi,
  • atm ka full form kya hai,
  • full form of atm,
  • atm ka pura name,
  • atm ka pura naam,
  • atm meaning in hindi,
  • full form of bank atm,
  • atmfull form,
  • atm longform,
  • what is the full form of atm,
  • what is atm full form,
  • what is a full form of atm,
  • what is full form of atm,
  • what is the full form of atm machine,

Read Also: Dream11 Kya Hai

FAQ’s

एटीएम का आविष्कारक कौन है?

John Shepherd-Barron

पहली एटीएम मशीन कहां लगाई गई थी?

दुनिया में सबसे पहले एटीएम मशीन 27 जून 1967 को लंदन के इनफिल्ड कस्बे मैं लगाई गई थी।

भारत में पहला एटीएम किस बैंक में और कब लगाया गया था? 

भारत में सबसे पहला atm 1987 के अंदर मुंबई में स्थित HSBC बैंक में लगाया गया था।

Read More Post:

Conclusion:

आज की पोस्ट में हमने आपको एटीएम से जुड़ी हर जानकारी दी है, अगर आप एटीएम से रिलेटेड कोई भी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारी इस पोस्ट को एक बार अवश्य पूरा पढ़ें,

दोस्तों “ATM full form in hindi | Atm का इतिहास पोस्ट” से रिलेटेड आपके अगर कोई भी सवाल हो तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं, साथ ही इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी जरूर साझा करें,

आगे भी आप अगर इसी तरह से हमारी न्यू पोस्ट की अपडेट प्राप्त करना चाहते हैं, तो हमारी वेबसाइट पर सब्सक्राइब करके जाएं, धन्यवाद।

Previous articlePassword ko hindi mein kya kahate hain
Next articleThoptv app free download | Thoptv alternative app in hindi
I’m Jatin Kumar,Founder of Axial_work.com | Friends Axial_work website par aapke sath android mobile apps review, Computer setting, software review, youtube channel tips, crypto market updates aur website design se related sabhi ke baare me jankare de jaate hai.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here