Manya surve biography in hindi | मन्या सुर्वे जीवनी

नमस्कार दोस्तों, आज की पोस्ट में आपको अंडरवर्ल्ड डॉन (Manya surve) “मन्या सुर्वे” उर्फ “मनोहर अर्जुन सुर्वे” के बारे में बताया गया है, जो कि काफी ज्यादा पढ़ा लिखा हिंदू धर्म का पहला गैंगस्टर बना था,

दोस्तों आप सभी में से बहुत ही कम लोगों ने “manya survey” का नाम सुना होगा, पर यदि आप अगर मन्या सुर्वे के बारे में नहीं जानते हैं, तो आपको हमारे “history of manya surve” पोस्ट को पूरा पढ़ना चाहिए।

Manya surve biography in hindi

Manya survey की जिंदगी से जुड़े सवाल

दोस्तों वैसे तो मन्या सुर्वे के बारे में सिर्फ वही लोग जानते हैं, जिन्हें क्राइम स्टोरी पढ़ना और देखना काफी ज्यादा पसंद है, पर आपको यहां हम बता दे मन्या सुर्वे एक ऐसा शख्स था, जिससे दाऊद जैसा गैंगस्टर भी डरता था,

इसलिए दोस्तों आपको मन्या सुर्वे के बारे में जरूर जानकारी प्राप्त करनी चाहिए, जो भी लोग मन्या सुर्वे के बारे में जानते हैं, वह अक्सर गूगल पर मन्या सुर्वे के बारे में जानकारी तलाश करते रहते हैं,

और अभी अगर हम बात करें कि किस तरह के सवाल गूगल पर मन्या सुर्वे से रिलेटेड पूछे जाते हैं, तो मन्या सुर्वे से जुड़े कुछ सवाल हमने गूगल से काफी ज्यादा रिसर्च करने के बाद निकाले हैं, जो कि कुछ इस तरह से गूगल पर पूछे जाते हैं,

  • मन्या सुर्वे कौन है,
  • मन्या सुर्वे का परिवार,
  • मन्या सुर्वे की लाइफ स्टाइल,
  • मन्या सुर्वे का जन्म कब और कहां हुआ था,
  • मन्या सुर्वे की मृत्यु का कारण क्या है,
  • Manya surve history in hindi,
  • Manya surve biography,
  • Manya surve story hindi,
  • Manya survey की जीवनी,
  • History of manya surve,
  • Manya survey ने कहां तक पढ़ाई की है,

दोस्तों कुछ इसी तरह के लाखों सवाल गूगल पर मन्या के बारे में पूछे जाते हैं, इन सभी सवालों को ध्यान में रखते हुए लगभग सभी सवालों के जवाब आपको इस पोस्ट के माध्यम से दिए हैं,

अगर आपका भी कुछ इसी तरह का सवाल मन्या सुर्वे के बारे में है, तो आप हमारी पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढ़ें और अगर आपका कोई ऐसा सवाल है, जो कि आप मन्या सुर्वे के बारे में जानना चाहते हैं, और उस सवाल का जवाब हमारी पोस्ट में मौजूद नहीं है, तो आप वह सवाल हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Read Also: Telegram se paise kaise kamaye

Manya surve Wiki | Manya surve history in hindi

नाममन्या सुर्वे
वास्तविक नाममनोहर अर्जुन सुर्वे
जन्म1944
जन्म स्थानमहाराष्ट्र
पिता का नामज्ञात नहीं
माता का नामज्ञात नहीं
स्कूलज्ञात नहीं
कॉलेजकीर्ति कॉलेज
ग्रेजुएशनBA
मृत्यु11 जनवरी 1982

मन्या सुर्वे का जन्म कब और कहां हुआ

मन्या सुर्वे का जन्म “भारत के महाराष्ट्र राज्य के रत्नागिरी कोकण क्षेत्र के पावस जिले के पास रंपर गांव” में साल 1944 में एक हिंदू परिवार के अंदर हुआ था।

Read Also: Amrish Puri Biography in Hindi

मन्या सुर्वे की शिक्षा

मन्या सुर्वे की प्रारंभिक पढ़ाई अपने रंपत गांव से ही की थी इसके बाद उसने अपनी आगे की पढ़ाई मुंबई के कीर्ति कॉलेज से प्राप्त की थी, मन्या सुर्वे ने BA कंप्लीट किया था।

Read Also: Online jobs for students

मन्या सुर्वे का परिवार | Manya survey family

दोस्तों मन्या सुर्वे के परिवार से रिलेटेड हमने इंटरनेट पर काफी ज्यादा रिसर्च की है, पर हमें “manya survey” के परिवार के बारे में कोई भी जानकारी प्राप्त नहीं हुई है,

पर दोस्तों आगे हमें जब भी मन्या के परिवार से रिलेटेड कोई भी जानकारी प्राप्त होती है, तो उसे हम यहां अपडेट कर देंगे।

मन्या सुर्वे लाइफ स्टाइल | history of manya surve

दोस्तों मन्या सुर्वे का रहने, खाने, पीने का स्टाइल काफी सिंपल था, पर उसे काले कलर का चश्मा लगाना काफी ज्यादा पसंद था, मन्या को किसी के आगे झुकने से काफी ज्यादा नफरत थी, वह किसी के आगे नहीं झुकता था फिर चाहे वह कोई भी हो।

Manya surve biography in hindi | मन्या सुर्वे जीवनी

दोस्तों कहां जाता है कि उस समय मन्या सुर्वे अपने शैतानी दिमाग और रणनीति की योजनाएं बनाने के लिए जाना जाता था, दोस्तों वैसे तो मन्या सुर्वे मुंबई का रहने वाला नहीं था, वह साल 1954 में अपने परिवार के साथ मुंबई में आकर “लोअर परेल की चोल” में रहने लगा था,

आपकी जानकारी के लिए यहां हम आपको बता दें, मन्या सुर्वे मुंबई के कीर्ति कॉलेज से ग्रेजुएट है, उसने अपने कॉलेज के टाइम पर ही अपनी एक गैंग बना ली थी,

मन्या सुर्वे ने अपनी गैंग में खासतौर पर सुमेश देसाई और भार्गव दादा को शामिल कर रखा था, जो कि पहले से ही गैंगस्टर के रूप में जाने जाते थे और वह कई लोगों का मर्डर भी कर चुके थे,

दोस्तों उस समय मुंबई अंडरवर्ल्ड का डॉन पठान भी manya surve और उसकी गैंग से डरता था, मुंबई की जितनी भी बड़ी-बड़ी गैंग थी वह अपना हर बड़ा काम मन्या सुर्वे से ही करवाती थी, इससे मुंबई में उसका एक तरफा राज हो गया था और लोग उससे डरने लगे थे,

दोस्तों मन्या सुर्वे ने अपनी गैंग के साथ मिलकर साल 1969 को दांडेकर नाम के एक व्यक्ति की हत्या की थी, जो कि यह उसका पहला मर्डर था, इस मर्डर को करने के बाद इनकी गैंग ज्यादा दिनों तक पुलिस से छुपकर नहीं रह सकी,

और कुछ ही दिनों में मन्या सुर्वे सहित इनकी गैंग को पकड़ लिया गया था और इन्हें कोर्ट द्वारा आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी,

इसके बाद मन्या सुर्वे जेल में अपनी सजा भुगतने के बाद फिर से मुंबई आ गया और उसने फिर से अपनी गैंग तैयार की और इस बार उसने काफी ज्यादा लोगों को अपनी गैंग में शामिल कर लिया था,

Manya Surve Biography In Hindi guide by Tapri

Read Also: Kabir das biography in hindi

मन्या सुर्वे की लाइफ पर बनी फिल्म

दोस्तों अगर आप मन्या सुर्वे की लाइफ को लाइव देखना चाहते हैं, तो आप मन्या सुर्वे की लाइफ पर बनी फिल्म “shootout at wadala” को यूट्यूब पर जाकर देख सकते हैं,

दोस्तों इस फिल्म में जॉन इब्राहिम आपको मन्या सुर्वे का किरदार निभाते हुए नजर आएंगे, जॉन इब्राहिम ने मन्या सुर्वे का काफी अच्छा किरदार निभाया है,

मन्या सुर्वे की मृत्यु कैसे हुई

दोस्तों जब मुंबई में मन्या सुर्वे और उसकी गैंग द्वारा आतंकवाद की गतिविधियां बढ़ने लगी तो मुंबई पुलिस ने मन्या सुर्वे की गैंग के मेंबरों का एनकाउंटर करना शुरू कर दिया था,

दोस्तों जैसे ही पुलिस ने आतंकवाद के खिलाफ अपनी गतिविधियों को तेज किया और मन्या सुर्वे के सभी साथियों को गिरफ्तार करने के साथ साथ उसके कुछ साथियों का एनकाउंटर भी किया,

Manya survey यह सब देखकर पूरी तरह से डर चुका था और जिसके कारण वह पुलिस से बच बचाकर भिवंडी चला गया, इसके बाद मन्या सुर्वे को तलाश करते हुए पुलिस उसके फ्लैट पर पहुंची और वहां की तलाशी लेने पर उन्हें कई गैर कानूनी हथियार, बंदूक, गोला बारूद जैसे घातक हथियार मिले,

पर पुलिस के मन्या सुर्वे के फ्लैट पर पहुंचने से पहले ही मन्या मुंबई छोड़कर भिवंडी में जाकर छुप गया था, इसके बाद 11 जनवरी 1982 कि सुबह के समय मन्या सुर्वे वाघेला के अंबेडकर कॉलेज जंक्शन के पास एक टैक्सी से उतरता हुआ दिखाई दिया था,

और उसी दिन पुलिस ने 1:30 pm पर जब वह है टैक्सी से नीचे उतर रहा था तब ही पुलिस ने उसे चारों तरफ से घेर लिया और उसके ऊपर पांच गोलियां चलाकर उसे वहीं पर मार गिराया,

दोस्तों ऐसा कहा जाता है कि मन्या सुर्वे कि इस लोकेशन का पता पुलिस को दाऊद इब्राहिम ने दिया था, क्योंकि दाऊद इब्राहिम मन्या सुर्वे से काफी ज्यादा डरता था और उसे मरवाना चाहता था, इसलिए उसे मरवाने के लिए पुलिस को उसकी लोकेशन दी थी।

Read Also: Dream11 Kya Hai | about dream11 in hindi

FAQ’s

मन्या सुर्वे कौन था?

मन्या सुर्वे अंडरवर्ल्ड का डॉन था, जो पढ़ा लिखा हिंदू समाज का पहला डॉन माना जाता है।

मन्या सुर्वे की पहली चोरी?

दोस्तों मन्या सुर्वे ने अपनी पहली डकैती एक एंबेसडर कार की की थी, जो कि 5 अप्रैल 1980 को की गई थी और इस कार का दुरुपयोग करते हुए मन्या सुर्वे ने 5700 रुपए की अपनी पहली चोरी करी रोड पर स्थित लक्ष्मी ट्रेडिंग कंपनी मे की थी।

मन्या सुर्वे का पूरा नाम?

मन्या सुर्वे का पूरा नाम मनोहर अर्जुन सुर्वे है।

मन्या सुर्वे को आजीवन जेल कब हुई?

मन्या सुर्वे ने अपनी गैंग के साथ मिलकर 1969 में एक दांडेकर नाम के व्यक्ति की हत्या कर दी थी, जिसके चलते पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था और कोर्ट द्वारा दांडेकर की हत्या के जुर्म में मन्या सुर्वे को उम्र कैद की सजा सुनाई गई थी।

Read More Post:

Conclusion:

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको अंडरवर्ल्ड डॉन “Manya surve” के बारे में बताया है, मन्या सुर्वे से जुड़ी सभी जानकारियां हमने आपको इस पोस्ट में दी है, जिसे पढ़कर आप मन्या सुर्वे के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं,

कि वह कौन था, कैसे वह डॉन बना, उसकी मृत्यु कैसे हुई, इन सभी से रिलेटेड आपको पूरी जानकारी इस पोस्ट में दी गई है,

अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आती है, तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं साथ ही अगर आप आगे भी इसी तरह की अपडेट्स प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारी वेबसाइट पर सब्सक्राइब करके जाएं, धन्यवाद।

Previous articleBharat mein kul kitne jile hain | भारत के जिलों के नाम
Next articleRefurbished meaning in hindi
I’m Jatin Kumar,Founder of Axial_work.com | Friends Axial_work website par aapke sath android mobile apps review, Computer setting, software review, youtube channel tips, crypto market updates aur website design se related sabhi ke baare me jankare de jaate hai.

2 COMMENTS

  1. uuski girlfriend divya , uuska kya huwa bad mai?, kya oo abhi jinda hai ?uuske bare mai internet pr bhi kuch nhi hai,aagar tip daud se mili thi to ,police ne uusko qu bich mai laya?
    incounter ke bad manya jinda tha easa bhi bataya jata hai , ambulence mai 12 minunit ke raste ko par karne mai police ne 30 minut lagaye ,kya ye sach hai? ho sake to eske bare mai eak oor block likhiye

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here