Proton ki khoj kisne ki hai | प्रोटॉन की खोज किसने की

क्या है प्रोटॉन ?, प्रोटॉन की खोज किसने की ?, Proton ki khoj kisne ki hai इनके बारे में जानने के पहले हमें परमाणु के बारे में जानना होगा। वैज्ञानिक कथन के अनुसार प्रत्येक पदार्थ बहुत से छोटे छोटे कणों से मिलके बना होता है। जिन्हें परमाणु कहते है।

या यह कह सकते है कि परमाणु एक अतिसूक्ष्म कण होता है, जो स्वतंत्र अवस्था में नही रहते है, लेकिन रासायनिक क्रिया में भाग ले सकते है। एक परमाणु के अंदर तीन मूल कण न्यूट्रॉन, प्रोटॉन और इलेक्ट्रॉन पाए जाते है।

परमाणु के सेंटर में नाभिक होता है, जिसमें न्यूट्रॉन, प्रोटॉन के कण पाए जाते है, इनके समुदाय को एक साथ न्यूक्लियन्स कहते है, जबकि इलेक्ट्रॉन नाभिक के चारों ओर घूमते रहते है। न्यूट्रॉन उदासीन, प्रोटॉन में धनावेश और इलेक्ट्रॉन ऋणात्मक आवेश वाले कण होते है।

प्रोटॉन क्या है, जानते है विस्तार से जाने

प्रोटॉन की खोज किसने की थी, इसके बारे में जानने के पूर्व हम प्रोटॉन क्या है? जान लेते है। प्रोटॉन एक सबएटॉमिक कण है, यह वास्तविक रूप से हाइड्रोजन परमाणु ही होता है।

जो सभी पदार्थो के परमाणु के नाभिक में धनावेशित कण के रूप में विद्यमान रहते है। इस कारण परमाणु के इस भाग का भार अधिक होता है। इसका द्रव्यमान 1.6725×10^−24 kg होता है,

जो कि न्यूट्रॉन से थोड़ा कम और इलेक्ट्रॉन से 1836 गुना ज्यादा होता है। सरल भाषा मे यह कहा गया है कि किसी भी तत्व में उपस्थित प्रोटॉन की संख्या ही उस तत्व का परमाणु क्रमांक होता है। इसे p या p+ से दर्शाया जाता है।

Motivational Movies: अगर आप एक स्टूडेंट है और आपको मूवी देखना पसंद है तो आपको अपने जीवन में इन मोटिवेशनल मूवीस को एक बार अवश्य देखना चाहिए मोटिवेशनल मूवीस की जानकारी आप यहां दिए लिंक पर क्लिक करके प्राप्त कर सकते हैं।

Proton ki khoj kisne ki hai | प्रोटॉन की खोज किसने की

सबसे पहले यूजीन गोल्डस्टीन ने 1886 में हाइड्रोजन पॉजिटिव (H+) के रूप में एनोड किरण के माध्यम से प्रोटॉन को देखा। जिसके बाद 1917 से 1920 के बीच अर्नेस्ट रदरफोर्ड ने डिस्कवरी ऑफ प्रोटॉन के लिये यूजीन गोल्डस्टीन फ़ाइल का पुनः प्रयोग किया।

Proton ki khoj kisne ki hai

जिसमे उन्होंने बताया कि प्रत्येक तत्व में कम से कम एक प्रोटॉन तो होते ही है। अतः (Proton ki khoj kisne kiya hai) प्रोटॉन की खोज किसने की, इसके प्रथम उत्तर में अर्नेस्ट रदरफोर्ड को प्राथमिकता दी गई है।

हालाँकि गोल्डस्टीन ने अपने प्रयोग में प्रोटॉन अवलोकन तो किया था , किन्तु लोगों तक प्रोटॉन से संबंधी स्पष्ट जानकारी पहुँचाने के कारण रदरफोर्ड को डिस्कवर ऑफ प्रोटॉन या प्रोटॉन के खोजकर्ता के रूप में जाना जाता है।

Discovery of proton: प्रोटॉन की खोज कैसे की गई थी

1886 में यूजीन गोल्डस्टीन के किये गए प्रयोग के अंतर्गत प्रोटॉन की खोज करने के लिये अर्नेस्ट रदरफोर्ड ने अल्ट्राथिन गोल्ड फ़ाइल के ऊपर लगातार कई बार अल्फा कणों की बमबारी की ।

जिंक सल्फाइड के श्रेत्र में आते ही अल्फा कणों के इधर उधर बिखर रहे थे। जिसके बाद रदरफोर्ड द्वारा अवलोकन किया गया कि अधिकांश अल्फा कण बिना डिफ्लेक्ट हुए ही फॉयल से बाहर चले गये।

बहुत कम अल्फा कण वापस आये । परमाणु का ज्यादातर भाग खाली होता है। इन आधार पर अर्नेस्ट रदरफोर्ड ने पुष्टि की, कि परमाणु का अधिकतर द्रव्यमान धनात्मक आवेश के साथ परमाणु के कोर में होता है।

जिसे उन्होंने प्रोटॉन का नाम दिया । प्रोटॉन को 1920 में ब्रिटिश एसोसिएशन ऑफ एडवांसमेंट ऑफ साइंस द्वारा वैज्ञानिक साहित्य में दर्जा दिया गया।
होम पेज पर जाएं यहां क्लिक करें

शिक्षित बेरोजगारी के कारण: भारत में शिक्षित बेरोजगारी के क्या कारण है इसके बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो यहां दिए लिंक पर क्लिक करें।

FAQ’s

Q1. परमाणु क्या है ?

Ans: प्रकृति में मिलने वाले हर पदार्थ छोटे छोटे कणों के समूह से मिलकर बने होते है। इन कणों को परमाणु कहते है।

Q2. परमाणु में कौन कौन से कण पाए जाते है ?

Ans: परमाणु के नाभिक में सयुंक्त रूप से प्रोट्रान और न्यूट्रॉन पाये जाते है, जबकि नाभिक के चारों ओर इलेक्ट्रान गतिमान अवस्था मे रहते है।

Q3. प्रोटॉन में कौन सा आवेश होता है ?

Ans: प्रोटॉन में धन आवेश होता है।

Q4. प्रोटॉन की खोज कब और किसने की ?

Ans: प्रोटॉन की खोज अर्नेस्ट रदरफोर्ड ने 1920 में की थी ।

No 5. रदरफोर्ड ने किन किरणों की बमबारी से प्रोटॉन की खोज की ?

Ans: रदरफोर्ड ने अल्ट्राथिन गोल्ड फ़ाइल के ऊपर लगातार कई बार अल्फा कणों की बमबारी की ।

आगे और पढ़ें:

Conclusion:

दोस्तों उम्मीद है, इस लेख में आपको प्रोटॉन की खोज किसने की, Proton ki khoj kisne ki hai से संबंधित सारे सवालों के उत्तर मिल गए होंगे। प्रोटॉन से संबंधित और कोई जानकारी आप जानना चाहते हैं, तो नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताइये।

हम आपके हर सवालो का जवाब देंगे। पोस्ट पंसंद आई हो तो शेयर करें। धन्यवाद !

लेखक का नाम: रेखा शर्मा

Share This Post:

Leave a Comment