Tiger ko hindi mein kya kahate hain

आज की पोस्ट में आपको बताया गया है Tiger ko hindi mein kya kahate hain, tiger का इतिहास क्या है, भारत में कितने टाइगर रिजर्व हैं।

यदि आप tiger ko hindi mein kya bolate hain से जुड़ी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो हमारी आज की इस पोस्ट को पूरा अवश्य पढ़ें।

Tiger ko hindi mein kya kahate hain

Tiger ko hindi mein kya kahate hain | Tiger in hindi

अगर बात की जाए कि टाइगर को हिंदी में क्या कहते हैं तो हम आपको बता दें टाइगर को हिंदी भाषा में बाघ, चीता और शेर के नाम से जाना जाता है।

Tiger in hindiबाघ, चीता और शेर

Google ka malik: गूगल का मालिक कौन है गूगल को किसने बनाया है, अगर आप गूगल इस्तेमाल कर रहे हैं और आपको नहीं पता कि गूगल कब और किसने बनाया है तो इस जानकारी को प्राप्त करने के लिए यहां दिए लिंक पर क्लिक करें।

Tiger को किन-किन नामों से जाना जाता है

टाइगर को संस्कृत में क्या कहते हैं?व्याघ्रः
टाइगर को उर्दू भाषा में क्या कहते हैं?शायर, धारीदार शायर,
धारीदार बाघ, धारीदार शेर
टाइगर को हिंदी में क्या कहते हैं?बाघ, चीता और शेर
टाइगर को गुजराती में क्या कहते हैं?बाघ

Tiger ka itihaas | टाइगर का इतिहास क्या है?

बाघ के निशान हमें चीन से प्राप्त हुए हैं, बाघ की एक विलुप्त प्रजाति के डीएनए के आधार पर यह पता लगाया गया है कि बाघ भारत में मध्य चीन से आए हैं। बाघ जिस रास्ते से भारत की तरफ आए हैं कई साल बाद इस जगह को सिल्क रूट के नाम से जाना गया,

वैज्ञानिकों द्वारा बताया गया है कि विलुप्त हो जाने वाले एशियाई बाघ और रूस में मिलने वाले साइबेरियन बाघ तथा एमुर बाघ दिखने में एक जैसे हैं।

हम सभी जानते हैं कि बाघ जंगल में रहने वाला स्तनधारी मांसाहारी पशु है जिसके शरीर का रंग पीला और लाल मिश्रण है, इनके शरीर पर काले रंग की धारियां पाई जाती हैं। एक बाघ का शरीर 13 फीट लंबा और वजन लगभग 300 किलो होता है, यह पशु अपनी प्रजाति में सबसे ताकतवर और सबसे बड़ा पशु है। भाग हमारे भारत देश का राष्ट्रीय पशु भी है।

History of pen: पेन का आविष्कार कब और किसने किया है यह जानकारी पढ़ने के लिए यहां दिए लिंक पर क्लिक करें।

एशिया के किन-किन क्षेत्रों में बाघ पाए जाते हैं?

एशिया में भारत, भूटान नेपाल कोरिया और इंडोनेशिया देश में अधिक संख्या में बाघ पाए जाते हैं लेकिन एशिया के श्रीलंका तिब्बत और अंडमान निकोबार द्वीप समूह में बाघ नहीं पाए जाते।

भारत में कुल बाघों की संख्या कितनी है?

विश्व भर में सिर्फ 13 देशों में बाघ पाए जाते हैं, जिनमें 70 फीसदी भारत में है, पर्यावरण विभाग और टाइगर रिजर्व के प्रयासों द्वारा भारत ने 2022 के लक्ष्य से पहले बाघों की आबादी को सफलतापूर्वक दोगुना कर दिया है। वर्ष 2010 जनगणना के मुताबिक भारत में कुल 1700 बाघ थे वहीं वर्ष 2018 जनगणना के अनुसार बाघों की संख्या बढ़कर 2967 हो गई है, अभी के समय भारत में कुल 51 टाइगर रिजर्व हैं।

History of watch: घड़ी का आविष्कार कब और किसने किया है घड़ी का जनक किसे माना जाता है यह जानकारी पढ़ने के लिए यहां दिए लिंक पर क्लिक करें।

बाघ के बच्चे कितने साल में व्यस्त हो जाते हैं?

बाघ के बच्चे 3 साल में ही व्यस्त हो जाते हैं और सातवें हफ्ते से शिकार करना भी शुरू कर देते हैं, बाघ के अंदर सुनने, देखने और सूंघने की क्षमता बहुत ही तीव्र होती है। बाघ हमेशा पीछे से ही हमला करते हैं और बड़े ही धीरज तथा एकाग्रता से हमला करते हैं।

बाघ भारत का राष्ट्रीय पशु कब और क्यों बना

बंगाल टाइगर बाघ की एक प्रजाति को भारत का राष्ट्रीय पशु माना जाता है। आज से करीब 46 साल पहले 18 नवंबर वर्ष 1972 को बाघ को भारत का राष्ट्रीय पशु चुना गया था, बाघ देश की शक्ति, शान, धीरज, बुद्धि और सतर्कता का प्रतीक है।

मन्या सुर्वे: भारत का पढ़ा लिखा सर्वप्रथम गैंगस्टर जिससे दाऊद भी डरता था, हमारी इस पोस्ट को पढ़ने के लिए क्लिक करें

राष्ट्रीय बाघ दिवस कब और क्यों बनाया जाता है

विश्व भर में 29 जुलाई को अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस बनाया जाता है, यह दिवस बाघ पारिस्थितिकी तंत्र के स्वास्थ्य और विविधता को बनाए रखने का अहम हिस्सा है। बाघ एक शाही और शिकार करने वाला पशु है लेकिन दुर्भाग्य की बात यह है कि बाघ एक ऐसी प्रजाति है जोकि विलुप्त होने के कगार पर आ गई है।

पेड़ों की कटाई और जंगलों का सफाया बाघ के विलुप्त होने का मुख्य कारण है। बाघ संरक्षण पर जागरूकता फैलाने और बाघों को विलुप्त से बचाने के लिए हर वर्ष 29 जुलाई को अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस मनाया जाता है।

अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस 29 जुलाई वर्ष 2010 से बनाया जा रहा है, रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में टाइगर समिट कार्यक्रम का आयोजन किया गया था इस कार्यक्रम में कई देशों ने हिस्सा लिया था और टाइगर समिट में समझौते पर हस्ताक्षर किया था।

इस समझौते में विश्व स्तर पर बाघों की घटती आबादी के बारे में बाघ संरक्षण और जागरूकता बढ़ाने को लेकर किया गया था। इसके अलावा इस कार्यक्रम में जिन देशों ने हिस्सा लिया था उन्होंने थाना कि वर्ष 2022 तक बाघों की आबादी को दोगुना कर देंगे।

बाघ की कितनी प्रजाति होती है?

मुख्य रूप से बाघ की 8 प्रजातियां है, जिनके नाम निम्नलिखित हैं।

  1. अमूर टाइगर,
  2. इंडोनिश टाइगर,
  3. साउथ चाइना टाइगर,
  4. मलायन टाइगर,
  5. बंगाल टाइगर,
  6. सुमात्रन टाइगर

बाघ की 2 प्रजातियां अब विलुप्त हो गई है।

महेंद्र सिंह धोनी: भारतीयों के दिल में बसने वाले हमारे भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की जीवनी जानने के लिए यहां क्लिक करें।

FAQ’s

Q1: बाघ का स्त्रीलिंग क्या होता है?

Ans: बाघ का स्त्रीलिंग बाघिनी, बाधिन होता है।

Q2: भारत का 52वां टाइगर रिजर्व कौन सा है?

Ans: रामगढ विषधारी (राजस्थान) में भारत का 52वां टाइगर रिजर्व है।

Q3: देश में कुल कितने टाइगर रिजर्व हैं?

Ans: सिरिविल्लिपुथुर मेघामलाई भारत का 51वां टाइगर रिजर्व है।

Q4: भारत का पहला टाइगर रिजर्व कौन सा है?

Ans: बन्दीपुर टाइगर रिजर्व भारत का पहला टाइगर रिजर्व है।

होम पेज पर जाएंयहां Click करें

आगे और पढ़ें:

Conclusion: निष्कर्ष

हमें उम्मीद है आपको हमारी पोस्ट “Tiger ko hindi mein kya kahate hain, tiger in hindi” पसंद आई होगी, हमारी इस पोस्ट से संबंधित आपके मन में जो भी सवाल हो आप उन्हें कमेंट के द्वारा हमसे पूछ सकते हैं,

इसी तरह से आगे भी ज्ञानवर्धक जानकारी प्राप्त करते रहने के लिए हमारी वेबसाइट को subscribe करें, धन्यवाद।

Share This Post:

Leave a Comment